Home » मध्य प्रदेश » अनूपपुर » भूमि बचाओ-किसान बचाओ अभियान चलेगा गाँव-गाँव में चलेगा अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान

भूमि बचाओ-किसान बचाओ अभियान चलेगा गाँव-गाँव में चलेगा अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान

केन्द्रीय उर्वरक एवं रसायन मंत्री श्री अनंत कुमार ने की लंबित योजनाओं की समीक्षा
केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री श्री अनंत कुमार ने कहा है कि किसानों को रासायनिक उर्वरकों के दुष्प्रभाव के बारे में जागरूक करने के लिए पाँच दिसम्बर-विश्व मृदा दिवस से देश में ‘भूमि बचाओ-किसान बचाओ अभियान’ चलाया जाएगा। मंत्री श्री अनंत कुमार ने यह जानकारी भोपाल में हुई बैठक में दी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में इस अभियान को व्यापक रूप से चलाया जाएगा। बैठक में उर्वरक एवं रसायन मंत्रालय से संबंधित प्रदेश की लं

भूमि बचाओ-किसान बचाओ अभियान चलेगा गाँव-गाँव में चलेगा अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान
भूमि बचाओ-किसान बचाओ अभियान चलेगा गाँव-गाँव में चलेगा अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान

बित परियोजनाओं पर चर्चा की गई।

श्री अनंत कुमार ने कहा कि देश में रासायनिक उर्वरकों के अधिक प्रयोग से भूमि प्रदूषित हो रही है। यह अभियान भूमि और किसानों को बचाने के लिए चलाया जाएगा। अभियान में किसानों को नीम कोटेड यूरिया के उपयोग के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा। उन्होंने प्रदेश के जबलपुर में लगने वाले खाद कारखाने, जबलपुर में गैस पाईप लाईन, भोपाल में शुरू होने वाले वोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर, रायसेन में शुरू होने वाले प्लास्टिक पार्क तथा ग्वालियर में प्रस्तावित प्लास्टिक पार्क की कार्रवाई में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्युटिकल एण्ड रिसर्च की भोपाल में स्थापना के प्रयास किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अभियान में गाँव-गाँव में कार्यक्रम कर किसानों को जागरूक किया जाएगा। जबलपुर में खाद कारखाने के लिए 500 एकड़ भूमि चिन्हित कर ली गई है। भोपाल में वोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर के लिए 10 एकड़ भूमि चिन्हित कर ली गई है।

बैठक में मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री पी.सी. मीणा, केन्द्रीय उर्वरक विभाग के संयुक्त सचिव श्री सुशील लोहानी, केन्द्रीय रसायन विभाग के संयुक्त सचिव श्री अविनाश, प्रदेश के प्रमुख सचिव कृषि डॉ. राजेश राजौरा और मुख्यमंत्री के सचिव श्री विवेक अग्रवाल उपस्थित थे।

Check Also

मध्यप्रदेश- 2017-18 के लिए बिजली टैरिफ की नई महंगी दरें घोषित

मध्यप्रदेश- 2017-18 के लिए बिजली टैरिफ की नई महंगी दरें घोषित

किसानों पर कोई अतिरिक्‍त भार नहीं कम खपत करने वाले घरेलू उपभोक्‍ताओं पर भी कोई …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *