Home » Hindi Samachar » जेएनयू (Jawaharlal Nehru University) में एबीवीपी का तिरंगा मार्च, देशविरोधी-नक्सलियों का गढ़, FIR दर्ज

जेएनयू (Jawaharlal Nehru University) में एबीवीपी का तिरंगा मार्च, देशविरोधी-नक्सलियों का गढ़, FIR दर्ज

भाजपा के सांसद महेश गिरि ने जेएनयू में देशविरोधी आयोजित कार्यक्रम के खिलाफ पूर्वी दिल्ली से सांसद गिरि ने वसंत कुंज नॉर्थ थाने में आयोजकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है।

जेएनयू (Jawaharlal Nehru University) में एबीवीपी का तिरंगा मार्च, देशविरोधी-नक्सलियों का गढ़, FIR दर्ज
जेएनयू (Jawaharlal Nehru University) में एबीवीपी का तिरंगा मार्च, देशविरोधी-नक्सलियों का गढ़, FIR दर्ज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपशब्द कहे गए। विरोध कर रहे छात्रों के गो बैक इंडिया, कश्मीर की आजादी तक जंग रहेगी, भारत की बर्बादी तक जंग रहेगी जैसे नारों ने पूरे कैंपस में बवाल खड़ा कर दिया। लेकिन ऐसा कोई पहली बार नहीं है और कइयो बार बार होती है जेएनयू में यह घटना…।

जेएनयू (Jawaharlal Nehru University) में एबीवीपी का तिरंगा मार्च, देशविरोधी-नक्सलियों का गढ़, FIR दर्ज

उन्होंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि वे जेएनयू के कुलपति को आयोजको के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दें और साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि भविष्य में ऐसे कार्यक्रम न हों। गिरी ने कहा कि मैंने दिल्ली पुलिस के आयुक्त को इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने को कहा है और साथ ही दक्षिण दिल्ली के पुलिस उपायुक्त के पास प्राथमिकी भी दर्ज कराई है।
जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) एक बार फिर खबरों में है। बुद्धिजीवियों का गढ़ कही जाने वाली जेएनयू में मंगलवार को कुछ छात्रों ने संसद पर हमले के दोषी आतंकी अफजल गुरु की बरसी मनाई गयी थी।
अफजल गुरु से संबंधित एक कार्यक्रम में पाकिस्तान के समर्थन और भारत के खिलाफ नारे लगाने वाले छात्रों के विरुद्ध जेएनयू कैंपस की एकजुटा दिखाने के लिए गुरुवार दोपहर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने तिरंगा मार्च निकाला। इस मार्च में बड़ी संख्या में छात्र शामिल हुए।
जेएनयू छात्र संघ के संयुक्त सचिव ने बताया कि हमारा कैंपस राष्ट्र विरोधी ताकतों के विरुद्ध एकजुट है। इसी को दर्शाने के लिए हमने हाथों में तिरंगा लेकर अकादमी ब्लॉक में तिरंगा मार्च निकाला। इसमें काफी संख्या में छात्र आए और देश के समर्थन में नारे लगाए। उन्होंने बताया कि इसके अलावा हमने शाम साढ़े पांच जेएनयू प्रशासन का पुतला भी जलाया। जेएनयू में एबीवीपी के अध्यक्ष आलोक सिंह ने बताया कि कुछ लोगों की वजह से कैंपस पूरे देश में बदनाम हो रहा है। हम ऐसा नहीं होने देंगे। यह कैंपस राष्ट्र से प्रेम करने वालों का है ना कि उनका जो देश के खिलाफ नारे लगाते हैं।

एबीवीपी का जोरदार विरोध
गुरुवार को एबीवीपी और वामपंथी गुट कुलपति दफ्तर के पास एक-दूसरे के सामने पड़ गए। इस दौरान दोनों ओर से जमकर नारेबाजी हुई।

जेएनयू की लोकतांत्रिक संस्कृति को ठेस पहुंची
अफजल गुरु से संबंधित कार्यक्रम को लेकर हुए विवाद पर वामपंथी छात्र संगठनों का कहना है कि इससे कैंपस की लोकतांत्रिक संस्कृति को झटका लगा है। जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि हम कार्यक्रम के दौरान लगाए गए नारों की निंदा करते हैं, लेकिन इसका प्रचार एबीवीपी विश्वविद्यालय की छवि खराब करने के लिए कर रही है।

User Rating: 5 ( 1 votes)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *