Home » Hindi Samachar » गुरु पूर्णिमा एक पर्व ही नहीं जीवन का आधार है -गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनायें

गुरु पूर्णिमा एक पर्व ही नहीं जीवन का आधार है -गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनायें

गुरु पूर्णिमा एक पर्व ही नहीं जीवन का आधार है
गुरु पूर्णिमा एक पर्व ही नहीं जीवन का आधार है
गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णु र्गुरुर्देवो महेश्वरः ।
गुरू साक्षात परं ब्रह्म तस्मै श्रीगुरवे नमः ।।
ध्यान की नींव गुरु की छवि है, पूजा की नींव गुरु के चरण हैं, गुरु के वाक्य मंत्र के सामान हैं, मोक्ष केवल गुरु कृपा से ही संभव है। गुरु की मान्यता केवल वैदिक संस्कृति में पाई जाती है, अन्य किसी भी भाषा में गुरु का पर्यायवाची नहीं है। अध्यापक या स्वामी के पर्याय तो मिल जाते हैं परंतु गुरु इन दोनों से ऊपर हैं।
सोचो अगर गुरु परंपरा न होती तो ज्ञानियों की नई पौध कौन उगाता #guru-purnima #GuruPurnima

guru-purnima

कौन हमको गढ़-गढ़ कर सुंदर बनाता। किसी ने सही कहा है कि हर मनुष्य की प्रथम पाठशाला हमारा घर होता है और पहली गुरु हमारी “माँ”।
गुरु पूर्णिमा एक अत्यधिक शक्तिशाली दिन है, इस दिन गुरु कि उपस्थिति मात्र से ही आपको आंतरिक संसार के अभूतपूर्व अनुभव होते हैं एवं आपकी क्रमागत उन्नति पर अद्भुत प्रभाव पड़ता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *