Home » Hindi Samachar » #BhopalEncounter :सिमी आतंकियों के एनकाउंटर पर वोट बैक की राजनीति

#BhopalEncounter :सिमी आतंकियों के एनकाउंटर पर वोट बैक की राजनीति

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा- लानत है ऐसी ओछी राजनीति करने वालो पर जो लोग इस (#BhopalEncounter :सिमी आतंकियों के एनकाउंटर पर वोट बैक की राजनीति ) पर सवाल खड़े कर रहे हैं उन्हें शहीद हुए पुलिसकर्मियों के लिए भी दो शब्द बोलने चाहिए। सिमी आतंकियों के हाथों शहीद हुए रमाशंकर यादव के अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विपक्षी पार्टियों पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं पर घटिया राजनीति (#BhopalEncounter :सिमी आतंकियों के एनकाउंटर पर वोट बैक की राजनीति ) करने में शर्म आनी चाहिए और शहीद हुए जवान पर दो शब्द भी नहीं बोले सकते, ऐसी राजनीति और नेताओं पर लानत हैं- शिवराज ने कहा, मेरे मन में तकलीफ है, लेकिन पता नहीं राजनीति कैसी हो गई है, हमारे देश के कुछ नेताओं को शहीदों की शहादत दिखाई नहीं देती है

#BhopalEncounter :सिमी आतंकियों के एनकाउंटर पर वोट बैक की राजनीति
#BhopalEncounter :सिमी आतंकियों के एनकाउंटर पर वोट बैक की राजनीति
गृह मंत्री बोले- किसी जांच की जरूरत नहीं
इधर प्रदेश के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि जब भी कोई आतंकवादी किसी एनकाउंटर में मारा जाता है तो देश में कुछ लोग खासकर कांग्रेसी एनकाउंटर पर वोट बैक की राजनीति करने लगते हैं, उन्होंने कहा कि किसी जांच की कोई जरूरत नहीं है, पुलिस ने सारी जानकारी मुहैया करा ही दी है, एनआईए सिर्फ जेल से भागे संदिग्ध आतंकियों के कनेक्शन की जांच करेगी।
दिग्विजय के बयान पर विजयवर्गीय का पलटवार
भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा है। विजयवर्गीय ने अपने ट्वीट में कहा है, दिग्विजय की फितरत ही आग लगाकर भाग जाने की है, पर राष्ट्रहित के बारे मे सोचने के बजाय वोट-बैंक की राजनीति करना,कहाँ की समझदारी है। दिग्विजय और उन जैसे दूसरे, जिन्हें आतंकियों से हमदर्दी हो रही है, एक बार ये भी सोचें, कि वो आठों जेल से भागने के दौरान भी एक पुलिसकर्मी की हत्या कर के भागे थे। जब हमारी पुलिस ने जांबाजी और बहादुरी का परिचय देकर, यह साबित किया है, कि किस प्रकार वे अकस्मात संकट के लिए भी तैयार हैं। ऐसे समय में राष्ट्रहित के बारे में सोचते हुए, उन्हें शाबाशी देने के बजाय वोट-बैंक की राजनीति करना, कहाँ की समझदारी है?

मुस्लिम कैदी ही जेल तोड़कर क्यों भागते हैं: दिग्विजय
देश में सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर जारी बहस के बाद अब भोपाल में पुलिस द्वारा सिमी आतंकियों के खिलाफ किये गए एनकाउंटर पर सियासी बवाल मचा हुआ है। सभी नेता एक दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर सिमी आतंकियों के जेल से फरार होने और उनके एनकाउंटर पर सवाल उठाए हैं। दिग्विजय ने कहा कि मुस्लिम कैदी ही जेल तोड़कर क्यों भागते हैं।
मुस्लिम कैदी ही जेल तोड़कर क्यों भागते हैं: दिग्विजय
भोपाल जेल ब्रेक को लेकर सबसे पहले सवाल उठाने वाले दिग्विजय ने सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में एनआईए से जांच करने की मांग की है, दिग्विजय ने कहा, मुझे ना सिमी से प्रेम है ना बजरंग दल से। मैं उन सभी के खिलाफ हूं जो धर्म के नाम उन्माद फैलाकर राजनीति करते हैं। इसमें औवेसी भी शामिल हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *