Home » Breaking » इंदौर वनडे: कप्तान धोनी ने दिलाई भारत को शानदार जीत – 1-1 से बराबरी कर ली।

इंदौर वनडे: कप्तान धोनी ने दिलाई भारत को शानदार जीत – 1-1 से बराबरी कर ली।

बेहद खस्ता हालत से शुरुआत और अंत तक पिच पर नाबाद 92 रन बनाकर पुराने रंग में लौटे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पारी के बाद गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत भारत ने दूसरे एक दिवसीय मैच में दक्षिण अफ्रीका को 22 रन से हराकर सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली।

इंदौर वनडे: कप्तान धोनी ने दिलाई भारत को शानदार जीत - 1-1 से बराबरी कर ली।
इंदौर वनडे: कप्तान धोनी ने दिलाई भारत को शानदार जीत – 1-1 से बराबरी कर ली।
मैच जीतने के फौरन बाद बोले धोनी, ‘आलोचकों की तलवार हमेशा तनी रहती है’
भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने जीत के लिए अब टोटके का सहारा लिया। इंदौर के होल्कर स्टेडियम में टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने दूसरे मैच में टॉस बाएं हाथ से उछाला, जीता और बैटिंग का फैसला किया।
टी20 सीरीज और पहले वनडे में हार के बाद आलोचना के शिकार हुए धोनी ने पुरानी लय में खेलते हुए आज नाबाद 92 रन बनाये जिसके दम पर भारत ने नौ विकेट पर 247 रन का स्कोर खड़ा किया। जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम 43.4 ओवर में 225 रन पर आउट हो गई।

होलकर स्टेडियम पर खेले गए इस मैच में दक्षिण अफ्रीका को 42 गेंद में 27 रन की जरूरत थी लेकिन भुवनेश्वर कुमार ने 44वें ओवर की दूसरी गेंद पर इमरान ताहिर (9) और चौथी गेंद पर मोर्नी मोर्कल (4) को आउट करके भारत को जीत तक पहुंचाया। ताहिर ने धोनी को और मोर्कल ने रैना को कैच थमाया। भारत के लिए अक्षर पटेल और भुवनेश्वर कुमार ने तीन तीन विकेट लिए जबकि हरभजन सिंह को दो विकेट मिले।

कप्तानी में जलवा दिखाने से पहले धोनी ने अपनी 86 गेंद की नाबाद पारी से आलोचकों को करारा जवाब देते हुए मैदान के चारों ओर स्ट्रोक्स खेले। उन्होंने अपनी पारी में सात चौके और चार छक्के जड़े। कैप्टन कूल ने पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ मिलकर आखिरी दस ओवरों में 82 रन बटोरे। एक समय भारत ने 40वें ओवर में सात विकेट 165 रन पर गंवा दिये थे लेकिन हरभजन सिंह (22) ने धोनी के साथ 56 रन की साझेदारी करके टीम को 200 रन के पार पहुंचाया।

शीर्षक्रम में अजिंक्य रहाणे ने 63 गेंद में 51 रन बनाये जो उनका लगातार दूसरा अर्धशतक था। दक्षिण अफ्रीका के लिये डेल स्टेन ने 49 रन देकर तीन विकेट लिए जबकि मोर्नी मोर्कल और इमरान ताहिर को दो दो विकेट मिले।

भारतीय टीम को रोहित शर्मा के रूप में करारा झटका लगा जिसे युवा तेज गेंदबाज कागिसो रबाडा ने दूसरे ही ओवर में आउट कर दिया। शिखर धवन (23) और रहाणे ने इसके बाद संभलकर खेलते हुए दूसरे विकेट के लिए 56 रन जोड़े। रोहित के जल्दी आउट होने से दोनों के लिये खुलकर खेलना मुश्किल हो गया था।

धवन ने चौथे ओवर में रबाडा को चौका लगाकर दबाव हटाया। वहीं रहाणे ने मोर्नी मोर्कल को अगले ओवर में तीन चौके जमाए। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान एबी डिविलियर्स ने अनियमित स्पिनर जेपी डुमिनी को 12वें ओवर में गेंद सौंपी जिसे आते ही धवन ने चौका लगाया। डुमिनी ने हालांकि उन्हें जल्दी ही शार्ट कवर पर मोर्कल के हाथों लपकवा दिया। विराट कोहली 12 रन बनाकर रनआउट हो गए।

18वें ओवर में मोर्कल की गेंद पर फरहान बेहार्डियेन ने मिडआफ में रहाणे का कैच छोड़ा जिसके बाद बल्लेबाज एक रन लेने के लिए दौड़ गए। कोहली दूसरा रन चाहते थे लेकिन रहाणे ने हवा में हाथ हिलाकर उन्हें रोका। दोनों बल्लेबाज एक ही छोर पर पहुंच गए और दूसरे छोर पर क्विटोन डिकाक ने गिल्लियां बिखेर दी।

रहाणे ने 59 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। वह इसके बाद टिक नहीं सके और अपना विकेट गंवा बैठे। लेग स्पिनर इमरान ताहिर को स्वीप शाट खेलने के प्रयास में वह बोल्ड हो गए।

सुरेश रैना सिर्फ पांच गेंद तक टिक सके और खाता खोले बिना रवाना हो गए। भारत का स्कोर 23.4 ओवर में पांच विकेट पर 105 हो गया था। अमित मिश्रा की जगह टीम में आये अक्षर पटेल (13) ने 29वें ओवर में भारतीय पारी का पहला छक्का लगाया। वह स्टेन की गेंद पर पगबाधा आउट हुए।

दूसरे छोर से धोनी विकेटों का पतन देखते रहे। भुवनेश्वर कुमार (14) ने सातवें विकेट के लिए धोनी के साथ 41 रन जोड़े। चोटिल आर अश्विन की जगह टीम में आए हरभजन ने 22 गेंद में 22 रन बनाए।

दक्षिण अफ्रीका की पारी की शुरुआत अच्छी रही जब हाशिम अमला और डिकाक ने पहले विकेट के लिए 40 रन जोड़े। पटेल ने अमला को चकमा देकर आगे आकर खेलने पर मजबूर किया और धोनी ने विकेट के पीछे तेजी से उन्हें स्टम्प आउट कर दिया।
डिकाक (34) ज्यादा देर टिक नहीं सके लेकिन फाफ डु प्लेसिस और जेपी डुमिनी ने तीसरे विकेट के लिये 82 रन जोड़े। जब वे दोनों क्रीज पर थे तब लग रहा था कि दक्षिण अफ्रीका एकतरफा जीत दर्ज करेगा लेकिन पटेल ने डुमिनी को 24वें ओवर में पगबाधा आउट करके इस साझेदारी को तोड़ा।

डुमिनी ने 46 गेंद में तीन चौकों की मदद से 36 रन बनाये जबकि डु प्लेसिस ने 56 गेंद में छह चौकों की मदद से 51 रन की पारी खेली।

दुनिया के सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में शुमार दक्षिण अफ्रीका के कप्तान एबी डिविलियर्स सिर्फ 19 रन बनाकर पवेलियन लौट गए जबकि डेविड मिलर खाता भी नहीं खोल पाए। तीसरा मैच राजकोट में 18 अक्तूबर को खेला जाएगा।

Check Also

चीन में घबराहट : भारत-अमेरिका-जापान का बंगाल की खाड़ी में संयुक्त युद्धाभ्यास

चीन में घबराहट : भारत-अमेरिका-जापान का बंगाल की खाड़ी में संयुक्त युद्धाभ्यास

मालाबार(बंगाल की खाड़ी) में भारत, अमेरिका और जापान के संयुक्त युद्धाभ्यास से चीन घबराहट में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =