Home » Hindi Samachar » मध्यप्रदेश में वर्ष 2020 तक सभी आवासहीन आदिवासी को घर : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मध्यप्रदेश में वर्ष 2020 तक सभी आवासहीन आदिवासी को घर : मुख्यमंत्री श्री चौहान

अलीराजपुर जिले के विकास पर खर्च होंगे 100 करोड़ रुपये
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया नर्मदा लिंक अलीराजपुर उदवहन सिंचाई योजना का भूमि-पूजन
मध्यप्रदेश में वर्ष 2020 तक सभी आवासहीन आदिवासी को घर : मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में वर्ष 2020 तक सभी आवासहीन आदिवासी को घर उपलब्ध करवाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गाँव के बाद सभी मजरे-टोले एवं फलियों तक लाइन बिछाकर 24 घंटे विद्युत आपूर्ति की जायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज अलीराजपुर जिले के झण्डाना में 582 करोड़ की नर्मदा लिंक अलीराजपुर उदवहन सिंचाई परियोजना के भूमि-पूजन के बाद सोण्डवा में आदिवासी कृषक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव और जिला प्रभारी मंत्री श्री अंतर सिंह आर्य भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अलीराजपुर जिले के विकास पर 100 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। किसानों की तरक्की की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में अब खेती-किसानी के लिये एक लाख रुपये का ऋण लेने वाले कृषकों को केवल 90 हजार रुपये वापस जमा करने होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा लिंक परियोजना पर 582 करोड़ खर्च होंगे। इससे 55 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। इस योजना के बाद आदिवासी भाइयों को रोजगार की तलाश में बाहर नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने परियोजना 2 वर्ष में पूर्ण करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिले के सोण्डवा में महाविद्यालय खोलने, वालपुर हाई स्कूल का हायर सेकेण्डरी में उन्नयन करने, नर्मदा एवं हथिनी नदी के संगम-स्थल को पर्यटन-केन्द्र के रूप में विकसित करने के लिये घाट के विकास एवं होटल का निर्माण किये जाने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उपस्थित आदिवासियों को अपना घर, अपना गाँव तथा अपना शहर स्वच्छ रखने का संकल्प भी दिलवाया। उन्होंने ग्रामीणों से अपने घर में शौचालय जरूर बनाये जाने के लिये भी कहा।

आदिवासी अंचल की पहली सिंचाई परियोजना

परियोजना में जिले में नर्मदा-हथिनी नदी के संगम-स्थल के निकट रोली गाँव के पास 10 क्यूमेक नर्मदा जल 240 मीटर तक उदवहन किया जायेगा। परियोजना में 46 किलोमीटर राइजिंग मेन, 120 किलोमीटर ग्रेविटी मेन तथा लगभग 346 किलोमीटर माईनर सब-माइनर वितरण प्रणाली से उदवहन होकर ढाई हेक्टेयर रकबे तक कनेक्शन मिल सकेगा। यहाँ से किसान ड्रिप तथा स्प्रिंकलर व्यवस्था से सीधे सिंचाई कर सकेंगे। आदिवासी अंचल की यह ऐसी पहली परियोजना है, जहाँ किसान को अपने खेत तक पाइप से जल उपलब्ध होगा। कार्यक्रम में विधायक सर्वश्री नागर सिंह चौहान, माधोसिंह डावर, शांतिलाल बिलवाल, कलसिंह भाबर और सुश्री निर्मला भूरिया भी मौजूद थीं।

Check Also

तीन लाख गरीबों के खाते में आवास की राशि पहुँची- मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान

तीन लाख गरीबों के खाते में आवास की राशि पहुँची- मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान

महिलाओं को सशक्त बनाने सरकार हर कदम उठायेगी सागर जिले के गढ़ाकोटा में रहस महोत्सव …