Home » राष्ट्रीय समाचार (Hindi News) » श्री पीयूष गोयल ने कोलकाता में कोल इंडिया की सीएसआर पहल से बने कैंसर रोगी गृह ‘’प्रेमाश्रय’’ का उद्घाटन किया

श्री पीयूष गोयल ने कोलकाता में कोल इंडिया की सीएसआर पहल से बने कैंसर रोगी गृह ‘’प्रेमाश्रय’’ का उद्घाटन किया

कोयला, बिजली, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री पीयूष गोयल ने आज कोलकाता के न्‍यू टाऊन स्थित राजरहाट में टाटा मे‍डिकल सेंटर में कैंसर रोगियों और उनके सम्‍बन्धियों के लिए एक गृह ‘’प्रेमाश्रय’’ का उद्घाटन किया। इस दस मंजिले भवन में कोलकाता के बाहर से आकर टाटा मेडिकल सेंटर में इलाज कराने के लिए आए 525 लोगों, केवल कैंसर के रोगियों और उनके सम्‍बन्धियों के लिए मामूली खर्च पर ठहरने का प्रबन्‍ध होगा।

श्री पीयूष गोयल ने कोलकाता में कोल इंडिया की सीएसआर पहल से बने कैंसर रोगी गृह ‘’प्रेमाश्रय’’ का उद्घाटन किया
श्री पीयूष गोयल ने कोलकाता में कोल इंडिया की सीएसआर पहल से बने कैंसर रोगी गृह ‘’प्रेमाश्रय’’ का उद्घाटन किया

इस अवसर पर श्री गोयल ने घोषणा करते हुए कहा कि कोल इंडिया कैंसर का पता लगाने के लिए 5 केन्‍द्र स्‍थापित करेगा, जो झारखंड, छत्‍तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और मध्‍य प्रदेश के कोयला खनन क्षेत्रों में से प्रत्‍येक में एक-एक होंगे, ताकि कैंसर जैसी भयानक बीमारी के गुणवत्‍तापूर्ण उपचार में काफी कठिनाइयों का सामना करने वाले दूरस्‍थ क्षेत्रों के लोगों को इसका लाभ प्राप्‍त हो सके। दूरस्‍थ क्षेत्रों से आने वाले कैंसर के गरीब रोगियों की कठिनाइयों में कमी लाने के प्रयास की सराहना करते हुए श्री गोयल ने प्रेमाश्रय न्‍यास से कहा कि इस गृह के रख-रखाव के लिए वे उद्योगजगत की हस्तियों, व्‍यापारिक समुदाय और अन्‍य लोगों को शामिल करें, जिसके लिए प्रतिवर्ष कम से कम 30 करोड़ रुपये की आवश्‍यकता होगी। कोल इंडिया लिमिटेड कोयला मंत्रालय के अधीन एक महारत्‍न सार्वजनिक उपक्रम है और इसने प्रेमाश्रय के निर्माण के लिए 41.11 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। मंत्री महोदय ने बताया कि यदि आवश्‍यकता हुई तो यह प्रेमाश्रय की मदद के लिए फिर आगे आएगा। कोल इं‍डिया लिमिटेड के चेयरमैन श्री सुतीर्थ भट्टाचार्य ने कहा कि इस प्रकार के नेक और मानवीय प्रयास से जुड़कर कोल इंडिया लिमिटेड को प्रसन्‍नता का अनुभव हो रहा है।

प्रेमाश्रय बाहर से आने वाले लोगों के लिए एक ऐसा घर है जो न्‍यू टाऊन, राजरहाट स्थित टाटा मेडिकल सेंटर से काफी निकट है। इस भवन में रोगियों और उनके सम्‍बन्धियों के ठहरने की सुविधा के अलावा यहां रोग प्रशामक उपचार, शिशु देखभाल केन्‍द्र, परामर्श कक्ष, फिजियोथेरेपी और एक सभागार भी उपलब्‍ध है।

Check Also

ग्लोबल पोवर्टी प्रोजेक्ट के प्रतिनिधिय़ों ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की

ग्लोबल पोवर्टी प्रोजेक्ट के प्रतिनिधिय़ों ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की

ग्लोबल पोवर्टी प्रोजेक्ट(विश्व गरीबी परियोजना) के प्रतिनिधियों ने आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात …