Home » मध्य प्रदेश » मध्य प्रदेश के शहडोल जिले की शर्मनाक घटना साइकिल और शव

मध्य प्रदेश के शहडोल जिले की शर्मनाक घटना साइकिल और शव

मध्य प्रदेश के शहडोल जिले की शर्मनाक घटना शासन-प्रशासन का कंही अत पता नहीं जबकि आदवासी बाहुल्य संभाग होने से सबसे ज्यादा बजट इस संभाग को मिलता है,

मध्य प्रदेश के शहडोल जिले की शर्मनाक घटना
मध्य प्रदेश के शहडोल जिले की शर्मनाक घटना
इसके बाद भी यंहा की गरीब जनता प्राथमिक जरूरतों को मोहताज है फिर ऐसी घटना होने के पश्चात यह जाच का विषय है… लेकिन ऐसी घटनाओ की जबाबदेही तय होनी चाहिए जिससे ऐसी शर्मनाक घटनाओं को रोका जा सके, “एक गरीब को अपने सासू माँ के लिए शव वाहन तक नसीब नहीं हुआ” , लगभग 10KM तक शव को बेटी और दामाद ने शव को साइकिल पर रखकर कटहरी से आमिल्हा गांव तक 20 किलोमीटर का सफर तय किया। दरअसल, शहडोल के अमिल्हा गांव निवासी 70 वर्षीय महिला राम बाई काफी दिनों से बीमार चल रही थी, शुक्रवार सुबह इलाज के दौरान कटहरी में राम बाई की मौत हो गई।
राम बाई की बेटी की आर्थिक हालत ऐसी नहीं थी कि वह अपनी मां के शव को घर ले जाने के लिए निजी वाहन का इंतजाम कर सकें। ऐसे में बेटी और दामाद ने हर संभव जगह पर मदद की गुहार लगाई, लेकिन दोनों को शव वाहन नहीं मिला।
ऐसे में इस परिस्थिति में बेटी और दामाद ने आसपास के लोगों से मदद मांगी, लेकिन उन्हें वहां से भी निराशा ही हाथ लगी।
दोनों को लगा कि किसी भी दर से उन्हें मदद नहीं मिलेगी तो उन्हें साइकिल पर ही शव ले जाने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचा।